You are here: Homeराज्य

State (129)

Bihar (2)

बिहार के मंत्री के घर में हुई शराब की दावत.

बिहार के मंत्री के घर में हुई शराब की दावत.

जहानाबाद। क्या शराबबंदी को लेकर नीतीश की सारी कोशिशें धराशाही हो गई है। क्या नीत ...

MORE

Madhay Pradesh (28)

रीबा: त्योथर के जाने माने कांग्रेसी नेता कौशलेश द्विवेदी म.प्र.कांग्रेस कमेटी के सचिव बने.समर्थको मे उत्साह

रीबा: त्योथर के जाने माने कांग्रेसी नेता कौशलेश द्विवेदी म.प्र.कांग्रेस कमेटी के सचिव बने.समर्थको मे उत्साह

(त्योंथर,रीबा) आखिरकार राहुल गांधी के त्योंथर आगवन के बाद बिंध्य छेत्र के सफेद श ...

MORE

Other State (1)

दिल्ली से कोलकाता तक टीएमसी का प्रोटेस्ट

दिल्ली से कोलकाता तक टीएमसी का प्रोटेस्ट

नई दिल्ली : नोटबंदी पर केंद्र सरकार को घेरने में जुटी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्र ...

MORE

लखनऊ। मशहूर फिल्म अभिनेत्री और पूर्व सांसद जयाप्रदा ने समजावादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान की तुलना फिल्म पद्मावत के खिलजी से की है। जयाप्रदा ने कहा, जब मैं फिल्म पद्मावत देख रही थी, तब अलाउद्दीन खिलजी को देखकर मेरे जेहन में आजम खान आ रहे थे। मैं सोच रही थी कि जब मैं चुनाव लड़ रही थी तब उस शख्स ने किस तरह से मुझे प्रताडि़त किया था। आपको बता दें कि जयाप्रदा और आजम खान के बीच जुबानी जंग अक्सर देखने को मिलती रही है। पूर्व में पार्टी से निकाले जाने का आरोप आजम ने जयाप्रदा पर ही मढ़ा था। 

आजम ने तब विवादित बयान देते हुए कहा था कि एक नाचने वाली के चलते उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया। एक और बयान में उन्होंने कहा था कि हम तो नाचनेवाली को भी सांसद बना देते हैं। वहीं, जयाप्रदा ने आरोप लगाया था कि आजम के खौफ के कारण ही उन्हें अपने संसदीय क्षेत्र से दूर रहना पड़ता है। उन्होंने कहा था कि आजम के कारण ही उन्हें उनके ही संसदीय क्षेत्र में न तो कोई होटल मिलता है और ना सरकारी गेस्ट हाउस में ठहरने दिया जाता है। 

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही जयाप्रदा ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को बिगड़ा बच्चा कहकर संबोधित किया था। उन्होंने कहा था, अखिलेश बिगड़े हुए बच्चे हैं। उन्हें भगवान राम से सीखना चाहिए, जो पिता का वचन निभाने के लिए राजपाठ त्यागकर वनवास चले गए थे। आपको बता दें कि मुलायम सिंह यादव के दोस्त रहे अमर सिंह अभिनेत्री जयाप्रदा को राजनीति में लेकर आए थे। जयाप्रदा ने आजम खान के गढ़ रामपुर सीट से सपा के टिकट पर लोकसभा का चुनाव भी जीती थी। लेकिन, अखिलेश यादव के सपा अध्यक्ष बनने के बाद अमर सिंह और जयाप्रदा को पार्टी से निकाल दिया गया था। 

 

इलाहाबाद । गोरखपुर व फूलपुर लोकसभा सीट पर मतदान शुरू हो गया है। गोरखपुर व फूलपुर लोकसभा सीट पर आज उपचुनाव शांतिपूर्वक कराने के लिए कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। चुनाव के लिए प्रदेश को 65 कंपनी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) भी आवंटित की गई है। इसके अलावा पुलिस, पीएसी व होमगार्ड के जवानों की अलग से तैनाती की गई है।


पुलिस महानिदेशक कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार क्षेत्र गोरखपुर में कुल पांच विधानसभा सीटें हैं, जहां 970 मतदान केंद्रों व 2141 मतदेय स्थलों पर चुनाव कराया जाना है। इसी तरह लोकसभा क्षेत्र फूलपुर में इलाहाबाद जिले की कुल पांच विधानसभा सीटें हैं, जहां 793 मतदान केंद्रों व 2059 मतदेय स्थलों पर चुनाव कराया जाना है। फूलपुर लोकसभा क्षेत्र में आने वाली इलाहाबाद पश्चिमी विधानसभा सीट के 45 मतदान केंद्र व 95 मतदेय स्थल कौशाम्बी जिले में आते हैं।

इलाहाबाद जिले को 30 कंपनी व एक प्लाटून, कौशाम्बी जिले को एक कंपनी व दो प्लाटून तथा गोरखपुर जिले को 33 कंपनी सीएपीएफ आवंटित की गई है। कानून-व्यवस्था की ड्यूटी के लिए इलाहाबाद को 2 कंपनी, कौशाम्बी को 1 प्लाटून व गोरखपुर जिले को 2 कंपनी पीएसी आवंटित की गई है। जनपदीय पुलिस बल की उपलब्धता इलाहाबाद व गोरखपुर जोन के जिलों से कराई गई है।पुलिस महानिदेशक कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार उप चुनाव सकुशल सम्पन्न कराने के लिए इलाहाबाद जिले को 660 सब इंस्पेक्टर, 277 हेड कांस्टेबल, 3997 कांस्टेबल व 4702 होमगार्ड उपलब्ध कराए गए हैं। कौशाम्बी जिले को 43 सब इंस्पेक्टर, 34 हेड कांस्टेबल, 217 कांस्टेबल व 322 होमगार्ड दिए गए हैं। गोरखपुर जिले को 43 इंस्पेक्टर, 845 सब इंस्पेक्टर, 308 हेड कांस्टेबल, 4469 कांस्टेबल व 5065 होमगार्ड आवंटित किए गए हैं। दोनों लोकसभा क्षेत्रों के उपचुनाव के लिए तीनों जिलों को कुल 43 इंस्पेक्टर, 1548 सब इंस्पेक्टर, 619 हेड कांस्टेबल, 8683 कांस्टेबल व 10089 होमगार्ड के जवानों की ड्यूटी लगाई गई है।

गोरखपुर: लोकसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव में वोटर लिस्ट, वोटर पर्ची में गड़बड़ी और मरे हुए कर्मचारियों की ड्यूटी चुनावों में लगाए जाने का मामला सामने आया है. यहां वोटर लिस्ट में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली मतदाता हैं, तो वहीं चुनाव ड्यूटी पर मुर्दों को लगाया गया है. मामला सामने आने के बाद इस संसदीय सीट पर होने वाले उपचुनाव में लगे प्रशासनिक अफसरों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं.

अफसरों की इस लापरवाही से वोटर तो परेशान हैं हीं, उनकी खुद की भी मुश्किलें बढ़ गई हैं. 11 मार्च को मतदान होने हैं, इससे पहले मतदाता क्रिकेटर विराट कोहली की फोटो लगी मतदाता पर्ची को लेकर पिछले दो दिनों से बीएलओ सहजनवां की गलियों में भटक रहे हैं.

दूसरी तरफ मृत अभियंताओं की चुनाव में ड्यूटी लगाए जाने पर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने भी नाराजगी जताई है. परिषद के अध्यक्ष रुपेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि अवर अभियंता राकेश कुमार और अनिल कुमार निर्माण खंड में तैनात थे. उनका निधन हुए साल भर होने को आया है, लेकिन उनकी भी मतदान में ड्यूटी लगा दी गई है.

वहीं सहजनवां की एक महिला बीएलओ एक ऐसी पर्ची बांटने पहुंची जिसमें न केवल क्रिकेटर विराट कोहली का नाम था बल्कि फोटो भी लगी हुई थी. प्राथमिक विद्यालय लुचुई प्रथम में बूथ संख्या 153 पर क्रम संख्या 822 पर वोटर के तौर पर विराट कोहली का नाम दर्ज है.


मामले में बीएलओ सुनीता चौबे ने कहा कि 4-5 दिन पहले उनके पास विराट कोहली की फोटो लगी मतदाता पर्ची बांटने के लिए आई थी. उन्होंने बताया जब नाम का पता नहीं चला तो सभासद गोपाल जायसवाल को मतदाता पर्ची दे दी गई. उपजिलाअधिकारी पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है.उन्होंने कहा कि इस गड़बड़ी के लिए जो भी जिम्मेदार है उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.

जयपुर ,विधानसभा में विधेयक पारितनाबालिग से दुष्कर्म के दोषियों को मृत्युदंड देने के प्रावधान वाला…
,धर्मेन्द्र पांडेय सिरमौर , जिला वनोपज सहकारी युनियन मर्यादित रीवा के सौजन्य से आयोजित तेंदू…
कृष्ण दत्त उपाध्याय /कोंडागांव जिले के केशकाल वनमंडल के अन्तर्गत आने वाले बडेराजपुर के बस्तर…
अर्जुन झा रायपुर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश की सभी 90 विधानसभा सीटों पर जन संपर्क…

(इलाहाबाद)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां सपा और बसपा पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा तो डूब ही रही थी, उसको सहारा देने आयी बसपा भी उसके साथ डूबेगी और दोनों को ‘डूबने’ से कोई रोक नहीं सकता। फूलपुर संसदीय सीट के लिए 11 मार्च को होने जा रहे उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी कौशलेंद्र सिंह पटेल के पक्ष में प्रचार करने आए मुख्यमंत्री ने कहा, "इन दोनों पार्टियों ने 15 वर्षों तक खूब लूटखसोट की है, भ्रष्टाचार फैलाया है, नौजवानों को बेरोजगार किया है, पलायन करने के लिए मजबूर किया है, किसानों को बदहाल किया है, अपराधियों को प्रश्रय दिया है।"

उन्होंने कहा, "दोनों (पार्टियों) ने अपने अपने कार्यकाल में समान रूप से पाप किया है, इसलिए दोनों को पाप की सजा मिलनी चाहिए और दोनों को साथ साथ डूबो देने की आवश्यकता है। यही अपील करने हम सब आपके बीच आये हैं।" अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, "11.5 लाख से अधिक आवास दिए, 33 लाख से अधिक शौचालय हमने उपलब्ध कराये, 25 लाख गरीब लोगों को बिजली के निःशुल्क कनेक्शन उपलब्ध कराए। वहीं 65 लाख गरीबों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलेंडर के कनेक्शन दिए हैं।" उन्होंने कहा, "1.20 लाख किलोमीटर सड़कों को गड्ढामुक्त करने का काम एक साथ एक दिन में नहीं होगा। ये गड्ढे 12-15 वर्षों का सपा, बसपा का पाप है। उनके पाप के इतने बड़े गड्ढे थे जिसे भरने में हमें एक साल से भी कम समय लगा है।"

 

योगी ने कहा, "हमने उत्तर प्रदेश को लेकर लोगों का नजरिया बदला है। पहले लोग उत्तर प्रदेश आने से डरते थे, अपराधियों से डरते थे। अब नई सरकार के विकास के एजेंडा और भयमुक्त वातावरण को देखकर देश दुनिया से लोग उत्तर प्रदेश में निवेश करना चाहते हैं।" इस अवसर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, "अखिलेश यादव अब साइकिल पर हाथी को बैठाकर ला रहे हैं। वह चाहें तो उस हाथी पर अतीक को भी बैठा लें, साइकिल नहीं चलने वाली और लक्ष्मी जी कमल के फूल पर ही बैठकर यहां आएंगी।" मौर्य ने जनता से कौशलेंद्र सिंह पटेल के पक्ष में मतदान करने की अपील करते हुए कहा, "आपका वोट हमारे ऊपर कर्ज होगा और विकास के रूप में ब्याज सहित इस कर्ज की अदायगी की जाएगी

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के शासनकाल में ताकतवर मंत्री रहे आजम खां अपने "ड्रीम प्रोजेक्ट" जौहर विश्वविद्यालय को लेकर मुश्किलों में घिरते जा रहे हैं। मुख्यमंत्री के यहां हुई शिकायत के बाद जांच में सामने आया है कि उन्होंने विश्वविद्यालय के लिए नियमों के विपरीत दलितों की जमीन का बैनामा करा लिया। इसके बाद जिलाधिकारी रामपुर ने राजस्व परिषद में उनके खिलाफ दस निगरानी वाद दायर कराए हैं।

मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी के यहां इस बारे में शिकायत इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, रामपुर के अध्यक्ष आकाश कुमार सक्सेना ने दर्ज कराई थी। भाजपा सरकार में दो बार मंत्री और चार बार विधायक रहे शिव बहादुर सक्सेना के पुत्र आकाश ने बुधवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि आजम खां ने रामपुर में दलितों की जमीन विश्वविद्यालय के नाम कराकर दलितों के अधिकारों का हनन किया है। उन्होंने इसके लिए कलेक्टर की अनुमति भी नहीं ली। तहसीलदार और कानूनगो की मिलीभगत से दलितों की लगभग सौ बीघा जमीन विश्वविद्यालय यानी मौलाना जौहर अली ट्रस्ट के नाम की गई।

फाइलों से गायब हुए कागजात : आकाश सक्सेना ने बताया कि अनुसूचित जाति के व्यक्ति के नाम भूमि का पट्टा होने के कारण उसे जौहर विश्वविद्यालय के नाम नहीं किया जा सकता था, लेकिन इस प्रकरण में उत्तर प्रदेश जमींदारी विनाश एवं भूमि व्यवस्था अधिनियम-1950 का उल्लंघन किया गया। शिकायत किए जाने पर मंडलायुक्त ने डीएम से जांच कराई। शिकायत में पाया गया है कि रामपुर के तहसील सदर की ग्रामसभा सिंग्नखेड़ा व शौकतनगर में निवास करने वाले दलितों की जमीन मौलाना जौहर अली ट्रस्ट के नाम कराई गई। इसमें ग्राम सिग्नेखेड़ा के कई दलित सीलिंग पट्टेदार के रूप में अंकित थे। दलितों की भूमि की बिक्री जिलाधिकारी की अनुमति के बिना नहीं की जा सकती। इस पूरी कार्यवाही के कागज भी गायब करा दिए गए हैं।

भोपाल। देश में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी का मुख्यमंत्री चेहरा पेश करने की हिमायत करने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज कहा कि इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय पार्टी आलाकमान करेगा। मध्य प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का चेहरा पेश किये जाने पर पार्टी नेताओं में हुए मतभेद पर पूछे गये सवाल के जवाब में सिंधिया ने यहां संवाददाताओं को बताया, ‘‘चुनाव में चेहरा पेश करने के संबंध में न केवल कांग्रेस बल्कि दूसरे दलों में भी अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग रणनीति होती है। हरेक राज्य की स्थिति अलग होती है। मेरी सोच-विचार मध्य प्रदेश के संदर्भ में नहीं है। एक राष्ट्रीय स्तर पर है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव के लिए चेहरा तय करने का अंतिम निर्णय कांग्रेस आलाकमान लेता है। इस पर टिप्पणी करना ठीक नहीं है।’’ लोकसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक एवं मध्य प्रदेश की गुना संसदीय सीट से सांसद सिंधिया ने बताया, ‘‘मैं आम कार्यकर्ता था, हूं और रहूंगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पिछले 16 वर्षों में पार्टी द्वारा दी गई हर जिम्मेदारी निभाने की कोशिश की है। पार्टी मुझे जो भी जिम्मेदारी दे, उसे मैं दायित्व नहीं, वरन धर्म समझता हूं।’’

 

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में इस वर्ष के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री का चेहरा पेश करने के बारे में कांग्रेस नेताओं में कथित रूप से मतभेद है। कांग्रेस का एक गुट चाहता है कि सवा चौदह साल से मध्य प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार को हटाने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ पार्टी को चेहरा पेश करना चाहिए, जबकि दूसरा गुट इसका यह कहते हुए विरोध कर रहा है कि कांग्रेस में ऐसी प्रथा नहीं है। हाल ही में प्रदेश की मुंगावली एवं कोलारस विधानसभा सीटों के उपचुनाव में पार्टी की जीत का अंतर वर्ष 2013 की जीत के मुकाबले कम होने पर सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान एवं उनके मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों ने लंबे समय तक इन दोनों निर्वाचन क्षेत्रों में डेरा डाला और मतदाताओं को लुभाने के सभी प्रयास किये, लेकिन फिर भी विफल रहे।

 

फोटो गैलरी

Market Data

एडिटर ओपेनियन

IPL की साख पर सवाल गलत: श्रीनिवासन

IPL की साख पर स...

नई दिल्ली।। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड...

अरुणाचल की तीरंदाजों को चीन ने दिया नत्थी वीजा!

अरुणाचल की तीरं...

नई दिल्ली।। अरुणाचल प्रदेश की दो नाबालिग...

Video of the Day

Right Advt

Contact Us

  • Address: Pramod Babu Jha C/O Yuvraj Singh, D32/A, Gangotree Nagar, Dandi Naini, Allahabad, 212103
  • Tel: +(011) 9452377524, 8707786570
  • Email:  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
  • Website: http://www.smartindianews.in

About Us

Smart India News is one of the renowned Hindi Magazine in print and web media. It has earned appreciation from various eminent media personalities and readers. ‘Smart India News’ is founded by Mr Pramod Babu Jha.