You are here: Homeअपना शहर

Home Town (98)

(शंकरगढ,इलाहाबाद) अपने पूर्वजो  की पुरातन से चली आरही राज दरबार लगाने की परम्परा को कायम रखते हुए कसौटा स्टेट के महाराव राजा महेंद्र प्रताप सिह ने लोगो से सामाजिक सदभाव और आपसी भाईचारे को कायम रखते हुए छेत्र के विकास और खुशहाली के लिये वैचारिक और ब्यवहारिक स्त्तेर पर युवाओ को बुजुर्गो और अनुभवी लोगो के विचारो के साथ खुद को जोड्कर आगे बढने क संदेश दिया.विजय दशमी पर शंकरगढ राजभवन परिसर मे आयोजित राज दरबार मे उपस्थित हजारो लोगो को सम्बोधित करते हुए राजा महेंद्र ने कहाकि समय तेजी से परिवर्तित हो रहा है और इस बदलाव मे शंकरगढ के नागरिको को विकास और तरक्की के लिहाज से नयी चेतना और नये जोश के साथ आगे बढने की जरुरत है,देर रात तक चले राज दरबार मे जहा अनेक बक्ताओ ने अप्ने विचार रख्खे वहीअंत्र्राज्यीय पत्रकार संघ के राश्टीय अध्यछ प्रमोद बाबू झा ने न केवल अपनी स्वरचित रचनाओ से राज दरबार मे शमा बांधा बल्कि अनेक सामाजिक मुद्दो पर भी लोगो को जागरुक किया.इस दौरान पूरे शानो शौकत से राज दरबार की छटा दर्शनीय रही.इस आयोजन मे वरिष्ठ समाजसेवी दादा दल बहादुर सिह.नार सिंह सोलकी.कुवर शिवेंद्र प्रताप सिह.बीरेंद्र प्रताप सिन्ह देवेंद्र प्रताप सिह.दिवानाथ ठाकुर .कृष्ण मोहन उपाध्याय राघवेंद्र शुक्ल पप्पू बजदड्डी,जीत बहादुर सिह.उमाकांत तिबारी,सहित चंद्र मणि मिश्र छेदीलाल साहू आलोक गुप्ता पत्रकार के अलाव हज्जारो लोग मौजूद रहे ,उधर दशहरा मेला के दौरान शंकरगढ मे आस पास गांवो के लाखो लोगो की भीड उमडी .इस दौरान थाना प्रभारी बिजय बिक्रम सिह अपने पुलिस सह कर्मियो के साथ पूरी तरह कानून ब्यवस्था को चौकस बनाये रखने मे मुस्तैद रहे 

शंकरगढ ,इलाहाबाद/ लोक तंत्र मे जहा मंत्री बिधायक और राजनेताओ का दरबार लगता है .मगर आजादी के 70 दशक होने को है कसौटा स्टेट की राज दरबार परम्परागत ढंग से आज भी सजती है और हजारो की तादात मे आम लोग इस राज दरबार मे एकत्र होते है ,शंकरगढ कसौटा स्टेट की राज दरबार के बारे मे पूर्व ब्लाल प्रमुख और जाने माने समाजसेवी दादा दल बहादुर सिह ने वताया कि देश प्रदेश के कई मशहूर राज घरानो मे वर्तमान लोकतांत्रिक युग मे पुरानी सभी परम्पराये लगभग समाप्त हो चुकी है किंतु शंकरगढ मे वर्तमान राजा साहब  महेंद्र प्रताप सिह के पिता स्वर्गीय राजा कमलाकर सिह  आजादी के बाद इस परम्परा को बनाये रख्खे और वर्तमान मे भी विजय दशमी पर राज दरबार सजता है और समाज के सभी वर्ग के लोग श्रध्दा और स्नेह के साथ यहा एकत्र होते है .श्री सिह ने कहाकि इस परम्परा से जहा सामाजिक सदभाव और लोगो के बीच सामाजिक सदभाव का बातावरण मह्सूस होता है वही इस दरबार मे लोगो को कई नये और पुराने लोगो से मेल मुलाकात होती है .वता देकि राज दरबार रात 8 बजे से शुरु होती है और देर रात तक चलती है .इस दरबार मे राजा के दरबारी पूरे युनिफार्म मे रहते है और राजशाही तौर तरीके से कार्यवाही होती है

(इलाहाबाद) प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी.भक्तो कर बेडा पार भवानी.जैसे प्रचलित देवी गीतो की गूंज से कीडगंज मल्लाही बस्ती चौखन्डी मे नवरात्र पर्व क समापन हवन पूजन और सर्वहारा भंडारे से हुआ.अधिकांशत दलित और पिछडे बर्ग के उत्साही युवाओ ने इस साल उत्साह के साथ बिधि बिधान से माता शेरावाली की चौकी सजाया और नियमित सुबह शाम आरती का कार्य्क्रम हुआ जिसमे शत्रुघ्न निषाद,रति निषाद.रमेश यादव.गुड्डु निषाद अजय निषाद.उदय यादव सहित मुहल्ले के नागरिको की उल्लेखनीय भूमिका रही ,यहा प्रतिदिन महिलाओ द्वारा भजन कीर्तन भी किया जाता रहा  

राम जी प्रजापति कोराव  प्रयाग राज/   सभी श्रमिको ने सासद कुमर रेवती रमन दिल्ली राज्य सभा  साँसद ने इलाहाबाद कोरांव क्षेत्र श्रम विभाग से पंजिक्रित श्रमिको श्रम अफसरो द्वारा कोराँव  क्षेत्र मे जा कर मजदूरी की समस्या सुनने व उल्टा श्रम कार्ड बनवाने अँसदान जमा करने योजनाओ के आवेदन जमा करने हेतू इलाहाबाद  श्रम कार्यालय प्रतिदिन बुलबाये जाने से आरही दिककतो आर्थिक परेशानियो  को ध्यान मे  रखते हुए सीधे प्रमुख सचिव उ.प्रदेश सचिव साशन लखनऊ को एवम श्र्मायुकत कानपुर उ.प्र को पत्र लिखकर कोरांव  हर तहसील स्तर पर कैम्प लगा कर श्रमिको की समस्याये दूर करने को क्हा है.

बतादे कि कोरांव या अन्य तहसील के महिला  पुरुष मजदूर दो तीन सौ रुपिया किराया खरच कर श्रम कार्यालय आने .जाने लग जाता है

इस प्रकार उनका आर्थिक शोषन  हो रहा है.

जिससे श्रम हितकारी योजनाओ का लाभ ठीक से नही मिल पा रहा है जबकि ब्लाक या तहसील स्तर पर श्रम इंस्पेकटर ह्फ्ते.या माह भर मे अवस्य जाकर  श्रमिको कि समस्या सुननी चाहिये

इस बावत मे श्रम आयुक्त इलाहाबाद राकेश द्विवेदी ने बताया कि यदि सरकार कोरांव  एक कार्यालय खुलवा दे तो श्रम अफसर जा कर जिस पर सासँद  तथा बिधायक से उक्त बाते बताई

जिसपर सासँद रेवती रमन ने श्रम विभाग को पत्र लिखा

भाजपा विधायक कोरांव राजमणि कोल ने भी श्रमइको से. स्म्स्यओ से वाकिब होते  हुए आयुक्त को पत्र लिखा. और श्र्मिको के साथ हो रहे शोषण पर कार्यवाही के लिये पत्र लिखा

विधायक ने इतना तक क्हा कि यदि इंस्पेक्टर कोरांव आकर समस्या नही सुनते तो उन्हे यहा से हटना भी पडेगा .

उपश्रमयुकत और सासन को श्र्मिको के हितारथ कोई भी आवेदन निरसत करने के पुर्व शर्मिको अवगत  किये जाने निस्तरण न किये जानेकी  हिदायत दी.

सासद कुमर रेवती रमण कोरांव भ्र्मण के दौरान श्रमिको ने  परेशानी बताई थी .

देखना है कि श्रम विभाग का स्थाई  कार्यालय कहा खुलता है .यदि श्रम बिभागके अधिकारी सहुलिताये श्रमिको को नही दी जाती तो श्रमिक जिलाधिकारी से मिलकर माग पत्र के साथ धरने पर बैठने के लिये मजबूर हो जायेगे

कोरॉव :चोरो का कहर

Written by Thursday, 18 October 2018 15:40

रामजीप्रजापति/कोरॉव तहसील क्षेत्र सिपौवा गॉव पंकज s/o भोला सिंह सिपौवा आज रात १७/१०/०१८ को चोरो  ने घर में घुसकर हाथ साफ करते हुये रंगे हाथ पकड़े गये!उनको पुलीस के हिरासत में कर दियागया ! छोटू सिंह s/o गंगा सिंह २३वर्ष नीरज सिंह  पुत्र कलेक्टर सिंह २५वर्ष मनीष सिंह s/o रण बहादुर सिंह २१वर्ष ने  चना सरसों  को चोरी करने  मे सफल हो गए  शक वश पकडे गय दुर्गा पूजा में व्यस्त होने कारण घर को सूनसान पाकर चोरी करने में सफल हो गये! चोरी के समान को महादेव केशरी (माधॉव ) खजुरी के हाथ रातो रात बेच दिये! चोरो को पुलीस ने हिरासत में लिया!

स्मार्ट इंडिया न्यूज:कोराव प्रभारी रामजी प्रजापति ;

 

कोरांव मे चोरो का कहर

सर्राफा व्यापारी की दुकान में चोरों का धावा

गैस कटर लेकर दुकान के अंदर प्रवेश किए चोर

व्यापारी की तिजोरी काटने का किया प्रयास

नाकाम होने पर गैस कटर को छोड़कर भागे चोर

लगातार चोरों के हौसले बुलंद,नहीं दिख रहा पुलिस का खौफ

गैस कटर पुलिस कब्जे में लेकर जांच में जुटी

कोरांव थाना क्षेत्र के बस स्टैंड के पास का मामला:

 

नव जात शिशु को मिला सहारा

कोरांव/ड्रामलगंज  रवि कांत सिंह पटेल

 

कोरांव थाना क्षेत्रमें 11सितंबर 2018को एक माह की बच्ची  पुलिस को मिली.थी!

इलाहाबाद (प्रयगराज) चाइल्ड़ लाइन  के निर्देश पर बच्ची को सुभाष चिल्ड्रेन दत्तक ग्रहण इकाई  को भेजा गया

जहा एक माह की इस बच्ची  को आश्रय मिला !इससे पूर्व बच्ची इलाहाबाद (प्रयागराज) के ही एस एन हासिपतल मेंस्वास्थ्य परीक्षण के लिये 15अकटूबर  तक भर्ती रहीं!

विशेष दंत्तक ग्रहन इकाई  सुभाष  चिल्ड्रेन सोसाइटी के प्रबंधक कमलाकांत तिवारी ने बतायाकि पुलिस और चाइल्ड़ लाइन  बलिका के परिजनो को अपने  प्रयास से खोजने मे जुटी है!

उन्होंने बताया कि बलिका को अस्थाई  आश्रय  दिलाया  गया है!

60दिनो के भीतर  परिजनो के न मिलने पर  किसोर  न्याय  अधिनियम 2015कीधारा 38के तहत  बालिका को गोद देने  हेतू स्वतंत्र कराया जाऐगा !

जिसके बाद बलिका को गोद देने को विधिक प्रक्रिया शुरू की जाएगी  इस पर तरह2की चर्चा हो रही है!

:

 

बरसात न होने से  किसान  परेशान.

 

कोरांव/बडोखर जय शंकर भाषकर

बडोखर  क्षेत्र के आस पास अल्प बरसात व मान सूनकी बेरुखी से क्षेत्र के  ह्जारो किसानो की धान की खडी फसल  सुखकर  बर्बाद होने को कगार पर  पहुच चुकी है.

रबिकी फसल की बुवाई न हो सकने के कारण 

अब किसान फसल को सुखते  देखकर पूरे साल की कमाई का नुकसान  होते देख रहे है.

बडोखर  क्षेत्र के धान  उत्पादक किसान  इनदिनो  अपनी धान  की फसल की बर्बाद को लेकर काफी  चिंतित है.

किसानो का कहना है कि अल्प बरसा  व मानसून की बेरुखी  के कारण उनकी सैकडो एकडं में लगाई गई धान की फसल  सूख रही है.

जिससे अब किसानो के सामने  पुरे साल  जिवीकोपार्जन  के संकटकी नौबत  रही है.

इस क्षेत्र को स्र्वधिक  धान उतपादन के रुप मे जाना जाता है.

बडोखर .भोगन . लोवाकोन.  हरदिहा . व आस.पास के क्षेत्र मे धान की फसल  सूख रही है..

किसानो का कहना है कि धान की फसल को पकने  के समय अल्प बर्षा  के कारण  अब खेतो मे सूख रही है.

किसान काफी चिंतित नजर आ रहे है:

 

रोजगार  सेवक और ग्राम प्रधान  पर अवैध वसूली का आरोप

कोरांव /बडोखर

विकास खंड कोरांव क्षेत्र के बडोखरा  गाँव के ग्राम प्रधान और रोजगार  सेवक पर ग्रामिणो ने वसूली का आरोप लगाया है!

बडोखरा  गाँव के गरीब  शेर बहादूर पुत्र लाल चन्द्र ,शिवबहादुर पुत्र शिव मोह्न .शम्भू नाथ पुत्र केवला प्रसाद  का आरोप हैकि प्रधान मंत्री आवास योजना के लिये उनसे 10-10हजार रुपिये और शोचालय (इज्जत घर) केलिये  2हजार  रुपिये की माग की गई !रकम.देने से इंकार करने पर योजना का लाभ नही मिल पा रहा है!मामले में पिडितो ने तहसील दिवस में शिकायत कर इन्साफ की गुहारलगाई है!अब पूरे साल भर की कमाई पर नुकसान उठायेगे.!

प्रयागराज:साधु संतों की जानीमानी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने मंगलवार को मंत्रिमंडल की हुई बैठक में इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दिए जाने पर सीएम योगी को बधाई दी है।  

महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने गत शनिवार को मार्गदर्शक मण्डल की बैठक में इलाहाबाद को नाम प्रयागराज किये जाने की घोषणा की थी। जिसके बाद मंगलवार को मंत्रिमंडल की बैैठक में इसे मंजूरी दे दी है। इलाहाबाद को अब प्रयागराज के नाम से जाना जाएगा। उन्होंने कहा कि इलाहाबाद को प्रयागराज किया जाना करोड़ो लोगों की भावनाओं का सम्मान है। इस बहुप्रतीक्षित मांग के पूरा होने से केवल संत समाज ही नहीं अपितु देश के करोड़ो लोगों की भावना का सम्मान है।   

नरेन्द्र गिरी ने कहा कि गंगा, श्यामल यमुना और पौराणिक सरस्वती के त्रिवेणी के तट पर समय के साक्षी रहे अक्षयवट के लिए प्रयागराज कभी भी इलाहाबाद नहीं रहा। प्रत्येक वर्ष श्रद्धा और आस्था के आवेग में उमडऩे वाली करोड़ों की भीड़ के लिए यह प्रयाग ही रहा।  उन्होंने बताया कि सदियों का लंबा सफर तय करने के बाद प्रयागराज को अन्तत: उसका पुराना नाम मिल गया। इसके लिए योगी सरकार बधाई के पात्र है। पूरा संत समाज उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता है। 

स्मार्ट इंडिया न्यूज,रामजी प्रजापति इलाहाबाद।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को लोकभवन में हुई कैबिनेट बैठक में इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किए जाने के प्रस्ताव पर मुहर लगने की खबर मिलते ही  प्रयाग वासियो ने खुशी ब्यक्त किया. शहर के तीर्थ प्रोहित समाज के लोगो से लेकर शहर और गांवो तक लोगो ने इस निर्णय को उचित वताया, उधर भारतीय जनता पार्टी प्रयागराज के जनता एवं कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर दौड़ गयी।योगी कैबिनेट के इस फैसले के बाद साधु-संतों में ख़ुशी का माहौल है।

   बैठक के माध्यम से क्षेत्रीय मंत्री काशी प्रान्त कमलेश कुमार ने संबोधित करते हुए कहा सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने पर पुरजोर वकालत किया जिसके फलस्वरूप 444 साल पहले मुगल शासक अकबर ने प्रयाग से इलाहाबास कर दिया था जो बोलचाल में इलाहाबाद हो गया अब प्रयागराज होने से प्रयाग वासियों के मान ऊँचा हुआ।मीडिया प्रभारी दिनेश तिवारी ने इस मौके पर कहा कि माननीय सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि सिर्फ जिले का ही नाम प्रयागराज नहीं होगा बल्कि जहां जहां भी इलाहाबाद नाम का प्रयोग किया गया है उसका भी नाम बदल जाएगा। मसलन इलाहबाद यूनिवर्सिटी और इलाहाबाद जंक्शन का नाम भी बदल जाएगा।मंत्री प्रतिनिधि अधिवक्ता पवन श्रीवास्तव ने कहा इस ऐतिहासिक कैबिनेट के निर्णय से आज हम सब प्रयाग वासी गौरवान्वित महसूस कर रहे है ।परम् पूज्य योगी आदित्यनाथ जी एवं परम आदरणीय सिद्धार्थ नाथ सिंह ने मुगलों के प्रतीक इलाहाबाद को नेस्तनाबूद कर दिया पुनः प्रयागराज के गौरव को स्थापित किया।

    इस मौके पर सुनील श्रीवास्तव सीबी धर दुबे रोचक दरबारी पार्षद विजय मेहरोत्रा पंकज सिंह धनंजय सिंह पटेल शोभिता श्रीवास्तव  शिखा रस्तोगी चंद्रभूषण सिंह पटेल पूर्व पार्षद लेखराज सिंह पटेल राजू राय रामलोचन साहू चंद्रमा सिंह यादव विनय सिंह आनंद सिंह चंद्रावती तिवारी पूर्व पार्षद राबिन साहू प्रदीप केसरवानी दीपक राणा योगेश त्रिपाठी अविचल द्विवेदी दिनेश गुप्ता वीके उपाध्याय कुलदीप सिंह चौहान बृजेश श्रीवास्तव के के दुबे जगमोहन आर्या सतेंद्र नाथ तिवारी दुर्गावती मिश्रा रंजन शुक्ला निर्मला पासवान दिनेशधर द्विवेदी मानस तिवारी सभाजीत यादव रमेश सोनकर शैलेन्द्र सिंह दिनेश तिवारी मीडिया प्रभारी आदि ने जय श्री राम जयकारों के साथ माननीय मुख्यमंत्री योगी एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह को बधाई तथा आभार व्यक्त किया।इसी क्रम मे जमुनापार के बारा करछना मेजा कोराव तहसीलो मे भी लोगो ने इसका स्वागत किया.शंकरगढ के किसान प्रतिनिधि रमाशंकर मिश्र ने कहाकि मुख्य मन्त्री योगी के कार्य काल मे यह ऐतिहासिक निर्णय सही है और आगे संगम तट पर अकबर के किले का नाम भी बदले तो सही रहेगा.उधर छेत्र के महंत राज नाथ दुबे प्रधान पूरे बघेल.किसान सेवा सहकारी समिति भारत नगर अध्यछ राम पाल यादव,पूर्व भाजपा जिला मन्त्री कुलदीप पाठक शरद गुप्त सहित लोगो ने मुख्य मंत्री योगी के मुख्य मंत्रित्व काल मे हुए इस फैसले को ऐतिहासिक और भारतीय सनातन संस्क्रिति की धरोहर लौटाने की बात कही

उधर शहर मे

आज कैट बार एसोसिएशन की आपात बैठक हुई ।बैठक की अध्यक्षता अनिल कुमार सिंह अध्यक्ष की अध्यक्षता में शहर पश्चिमी के विधायक एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह एवं योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री का आभार प्रगट किया।

अनिल सिंह ने कहा इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया गया जो कि 400 सालों से पेंडिंग था।जनता और कई बड़े नेताओं तथा साधु संतों ने प्रयागराज करने की कई वर्षों से संधर्ष किया।माननीय मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने इलाहाबाद से प्रयागराज करने के लिए महामहिम राज्यपाल राम नाईक को पत्र लिखा।इतिहास में पहली बार आज़ाद भारत मे धार्मिक नगरी का नाम इतिहास बदल कर नया भूगोल स्थापित हुआ। इस खुशी में अनिल सिंह ने मिठाई बांटा।बैठक में सैकड़ों अधिवक्ताओं ने मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह को बहुत आभार व्यक्त किया।बैठक का संचालन मनोज उपाध्याय उपाध्यक्ष ने किया।

बैठक में पवन श्रीवास्तव सीवी दुबे सुनील श्रीवास्तव एलपी तिवारी संजय सिंह विष्ट ज्योत्सना श्रीवास्तव नीरज द्विवेदी अनिल कांत त्रिपाठी इत्यादि ने प्रयागराज होने में खुशी का इजहार किया।

  

इलाहाबाद। भारत की प्राचीन सनातन संस्कृति से जुडे तीर्थराज प्रयाग का नामकरण करीब 444 सालों पहले संगम नगरी प्रयागराज का जो नाम  था, आज एक बार फिर से गंगा-यमुना-सरस्वती की पावन नगरी का नाम प्रयागराज हो गया है। मालूम हो कि उत्तर प्रदेश सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने के एक प्रस्ताव को मंगलवार को मंजूरी दे दी, आपको बता दें कि मुगलों ने अपने शासन के दौरान इसका नाम बदलकर इलाहाबाद किया था।इलाहाबाद को 'तीर्थराज' (तीर्थों का राजा) कहते हैं

इलाहाबाद का प्राचीन नाम प्रयाग ही था, इसे 'तीर्थराज' (तीर्थों का राजा) भी कहते हैं। हिन्दू मान्यता अनुसार, यहां सृष्टिकर्ता ब्रह्मा ने सृष्टि कार्य पूर्ण होने के बाद प्रथम यज्ञ किया था। इसी प्रथम यज्ञ के प्र और याग अर्थात यज्ञ से मिलकर प्रयाग बना और उस स्थान का नाम प्रयाग पड़ा। भगवान श्री विष्णु के यहां बारह स्वरूप विध्यमान हैं, जिन्हें 

रामचरित मानस और रामायण में वर्णन

प्रयाग का वर्णन तुलसीदास की रामचरित मानस और बाल्मिकी की रामायण में भी है, यही नहीं सबसे प्राचीन एवं प्रामाणिक पुराण मत्स्य पुराण के 102 अध्याय से लेकर 107 अध्याय तक में इस तीर्थ के महात्म्य का वर्णन है।

मुगल सम्राट अकबर ने दिया था 'इलाहाबाद' नाम

'अकबरनामा' और 'आईने अकबरी' और अन्य मुगलकालीन ऐतिहासिक ग्रंथों के मुताबिक इस शहर का नाम इलाहाबाद मुगलसम्राट अकबर ने 1583 में रखा था, जो कि अरबी और फारसी के दो शब्दों से मिलकर बना था, जिसमें से अरबी शब्द इलाह था (अकबर द्वारा चलाये गए नये धर्म दीन-ए-इलाही के सन्दर्भ से, अल्लाह के लिये) और फारसी से आबाद (अर्थात बसाया हुआ) शब्द लिया गया था जिसका अर्थ था 'ईश्वर द्वारा बसाया गया', या 'ईश्वर का शहर'।

यूपी कैबिनेट की बैठक में एक बार फिर से बडा निर्णय लिया गया है। इस बैठक में इलाहाबाद का नाम बदल दिया गया है। अब इलाहाबाद का नया नाम प्रयागराज हो गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सभी मंत्रियों को इस बात का नोट भेज दिया गया है। 

आपको बता दें कि यूपी सरकार कुंभ मेले से पहले ही इलाहाबाद का नाम बदलने पर गंभीरता से विचार कर रही है। हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि संत लगातार इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयाग करने की मांग उठा रहे थे।

कुंभ मार्गदर्शक मंडल की बैठक में भी यह मुद्दा प्रमुखता से उठा था। बैठक की अध्यक्षता कर रहे राज्यपाल रामनाईक ने भी इस पर सहमति जताई। उन्होंने कहा कि जहां दो नदियों का मिलन होता है, उसे प्रयाग कहा जाता है। उत्तराखंड में देवप्रयाग, कर्णप्रयाग और विष्णुप्रयाग हैं।


इलाहाबाद में भी देवभूमि से निकलने वाली दो पवित्र नदियां मिलती हैं इसलिए इसे प्रयागराज कहा जाता है। उन्होंने कहा कि सरकार जल्द ही औपचारिकताएं पूरी कर इलाहाबाद का नाम प्रयागराज कर देगी। 

मार्कण्डेय काटजू ने दिया अन्य शहरों के भी नाम बदलने का सुझाव...
वहीं दूसरी और सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन जस्टिस मार्कण्डेय काटजू ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किए जाने पर तंज कसते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कई अन्य शहरों के भी नाम बदलने का सुझाव दिया है।

उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करते हुए लिखा है कि बाबर की औलादों के नामों से मुक्ति के लिए फैजाबाद का नरेन्द्र मोदीपुर और मुरादाबाद का नाम मनकीबातनगर, कर दिया जाए। उन्होंने फतेहपुर का नाम अमित शाह नगर करने का सुझाव भी दिया है। उन्होंने कई अन्य नगरों के नए नाम सुझाए हैं। 

बीजेपी ने जहां सरकार के इस कदम का स्वागत किया है वहीं कांग्रेस और समाजवादी पार्टी इसके विरोध में हैं। यूपी सरकार में मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने भी कहा कि नाम बदलने से हालात नहीं बदलने वाले हैं।

 

कोरांव से रामजी प्रजापति/कोराव  तहसील क्षेत्र के ख्जुरी खुर्द में आज शाम को माँ क्त्ययन देवी की भ्ब्य सजावट एवम पूजा पाठ किया गया इस बीच महराज पंडितभगवताचार्य श्री विजय श्याम मिश्रा जी माता जी के बारे जानकारीदी और पूजा करने की विधि बताये . इसी कडी मे अध्यक्ष अखंड पन्द्ये भारतीय जनता पार्टी के जिला उपध्य्क्ष   राम कैलास प्रजापति ब्यवस्थापक . डा प्रदीप सिह कोषाध्यक्ष .डा दिलीप राय बंगाली  ब्यवस्थापक .  रमेश्वर मिश्रा और शैलेन्द्र सिंह  सँचालनऔर पूजा पंडित दया शंकर तिवारी   ओम प्रकाश सिंह .पवन सोनकर . शेर बहादुर सिंह  प्रमोद कुमार .रिंकू केशरी एवं भक्त गण माँ का आशीर्वाद प्राप्त कर रहे है .

फोटो गैलरी

Market Data

एडिटर ओपेनियन

IPL की साख पर सवाल गलत: श्रीनिवासन

IPL की साख पर स...

नई दिल्ली।। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड...

अरुणाचल की तीरंदाजों को चीन ने दिया नत्थी वीजा!

अरुणाचल की तीरं...

नई दिल्ली।। अरुणाचल प्रदेश की दो नाबालिग...

Video of the Day

Right Advt

Contact Us

  • Address: Pramod Babu Jha C/O Yuvraj Singh, D32/A, Gangotree Nagar, Dandi Naini, Allahabad, 212103
  • Tel: +(011) 9452377524, 8707786570
  • Email:  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
  • Website: http://www.smartindianews.in

About Us

Smart India News is one of the renowned Hindi Magazine in print and web media. It has earned appreciation from various eminent media personalities and readers. ‘Smart India News’ is founded by Mr Pramod Babu Jha.