You are here: Homeअपना शहर

Home Town (98)

 (नारीबारी,.शंकरगढ.इलाहाबाद) वर्तमान मे माता दुर्गा के भक्तो द्वारा देवी की मूर्ति और जागरण क कार्यक्रम गांवो मे श्रध्दा और विस्वास के साथ मनाया जा रहा है ,नारीबारी सुरबल चंदेल सहित आस पास बाजारो और गांवो मे हवन पूजन और आरती मे भारी तादात मे लोग भाग ले रहे है ब्यापार मंडल नारीबारी के अध्यच्छ राकेश केशरवानी ने लोगो से शांति सदभाव से नवरात्रि पर्व मनाने पर बल दिया.आई एस जे एफ के अध्यच्छ् प्रमोद बाबू झा जयगोपाल सिह.इंद बहादुर सिह ने भी सामाजिक सदभाव से धार्मिक आयोजन मे लोगो की सहभागिता पर जोर दिया

उध्रर शंकरगढ क्षेत्र में इन दिनों सजे हुए दुर्गा के पंडालों में मां के जयकारे व भजन आरती से पूरा क्षेत्र भक्तिमय है। नवरात्रि के चौथे दिन माँ दुर्गा के चौथे स्वरूप मां कुष्मांडा की विधिवत पूजा अर्चना हुई। इन दिनों समूचे क्षेत्र में सुबह से देर रात तक गलियों बाजारों और गांवों में मां के जयकारे से पूरा इलाका गुलजार है।

  शंकरगढ़ मुख्य बाजार रामभवन चौराहा, पुरानी बाजार, सदर बाजार,लाइनपार, सेन नगर , पट हट रोड ,रानीगंज, सहित ग्रमीण अंचलों मिश्रापुरवा, बेमरा शिराजपुर  बेमरा सहित कई इलाकों में मां की भव्य झांकी सजाई गई है। मिश्रापुरवा दुर्गा कमेटी के अध्यक्ष सोनू तिवारी ने बताया कि 16 अक्टूबर को करछना के कलाकारों द्वारा मां का जगराता किया जाएगा जिसमे क्षेत्र के भक्त गण उपस्थित होकर मां की भक्ति का आनंद ले सकते हैं।

  लोगों ने बताया कि मिश्रापुरवा में सजने वाली मां की झांकी अति प्राचीन है । प्रति वर्ष क्वार प्रतिपदा से नवमी तक मां के सभी स्वरूपों की विधिवत पूजा अर्चना की जाती है । नवरात्रि के अंतिम दिन विशाल भण्डारे का आयोजन किया जाता है जिसमे दूर दूर के लोग आकर प्रसाद ग्रहण कर मां का आशीर्वाद ग्रहण करते हैं। मिश्रापुरवा दुर्गा पंडाल के मुख्य यजमान पारस नाथ तिवारी प्रति वर्ष विशाल पंडाल सजाकर मां दुर्गा की पूजा अर्चना कर समूचे क्षेत्र के लिए मां से खुशहाली का आशीर्वाद मांगते हैं।

 

  मिश्रापुरवा दुर्गा कमेटी की संचालक देवलता तिवारी व व्यवस्थापक  सोनू तिवारी, मोनू तिवारी, साहब तिवारी,अमरपाल, शंकरलाल, विष्णु गुप्ता, विवेक गुप्ता,लक्षण, छोटू, राममूरत, चंदिका,मुनीम आदि लोग पूरा दिन मां की सेवा में लगे रहते हैं।

 

(शिवराज पुर ,इलाहाबाद से इंद्रजीत मिश्रा)

शंकरगढ़ वन विभाग के अंतर्गत वन ब्लाक बरगड़ी में वन विभाग की भूमि पर अवैध खनन करा रहे वन दरोगा व वन रक्षक की संलिप्तता के कारण उन्हें निलंबित कर दिया गया।

  जानकारी के मुताबिक वन ब्लाक बिहारिया में वन विभाग की जमीन पर विभाग के ही लोगों की मिलीभगत की शिकायत पर वन क्षेत्रधिकारी मनीष सिंह द्वारा जांच की गई जिसमें दोषी पाए जाने पर वन दरोगा दुर्गेश उपाध्याय व वन रक्षक रमेश पाल  को निलंबित कर दिया गया।

 बता दें कि अभी कुछ दिन पहले विभाग की तरफ से बिहारिया के दो लोगों पर अवैध खनन को लेकर वन विभाग ने मामला पंजीकृत करवाया था।  इन पर आरोप था कि वन विभाग की जमीन पर जबरन अवैध कार्य किया जा रहा है।  इसकी जांच वन क्षेत्राधिकारी मनीष सिंह कर रहे थे जिस पर आज मनीष सिंह की जांच में वनरक्षक रमेश पाल व वन दरोगा दुर्गेश उपाध्याय की सह  पर अवैध खनन किया जाना पाया गया । जांच रिपोर्ट प्रेषित किए जाने पर प्रभारी निदेशक सामाजिक वानिकी प्रभाग  पी शुक्ला ने  निलंबन की कार्रवाई की ।

ज्ञात हो कि इस मामले को लेकर शंकरगढ़ ब्लाक रेंज में ऐसे कई जगह है जहां वन दरोगाओं की मिलीभगत से सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जा व निर्माण होता है। उन पर करवाई कब होगी ये तो विभाग ही जाने। लेकिन वन विभाग के इन जिम्मेदारों की वजह से सरकारी जमीन का बंदरबाट व दुरुपयोग हो रहा है। ये खेल कब रुकेगा कुछ कहा नही जा सकता।

 

 

त्योंथर

त्योंथर पूर्वी की पहचान के लिए जाने जाने वाले भूभाग की भूमि सिगवां , दोमट , बलुई दोमट से संपन्न अति उपजाऊ बेलन बेसिन का विशाल भूभाग है । प्रकृति ने इस भूभाग को नायाब तरीके से गढ़ा है । ज्यादातर क्षेत्र कृषि मूलक सँभवनाओं से भरा है । इस भूभाग में प्राचीन पारंपरिक तालाबों की लंबी श्रृंखला उपलब्ध है जिसमें आधुनिक कृषि के तहत मत्स्य पालन , मीठे पानी की मोती उत्पादक सीपी , सिंघाड़ा , कमल की खेती के लिए उपयुक्त आवश्यकता विद्यमान है जो रोजगार सृजन के साथ मजबूत आर्थिक आधार बन सकती है ।सिंचाई की दृष्टि से नैना नदी पर बड़ा डैम बनाया जा सकता है साथ ही चौधा नाला ढखरा , कोलगढ़ नाला रायपुर , नरवई नाला उमरिया परसधा , भमरिहा नाला बुदामा में पहाड़ के नीचे बड़े जलाशय निर्मित किए जा सकते हैं । इन संरचनाओं से बरसाती पानी का संग्रहण कर कृषि में उपयोग किया जा सकता है विशेषकर उन भागों में जहाँ त्योंथर उदवहन योजना का पानी नहीं पहुँच सकता ।

त्योंथर उदवहन योजना को खांभा से आगे बढ़ाकर सोनौरी तक द्वितीय चरण में पूर्ण किया जाना अपेक्षित है साथ ही नैना गोरमा बेसिन के गांवों को कवर किया जाना कृषि की आशातीत बृद्धि के लिए उपयुक्त होगा । इस पूरे भूभाग में बाग बागवानी खाद्यान्न फसलें इमारती वन की विपुल संभावनाएँ विद्यमान हैं जिसके लिए बेलन नदी के किनारों के साथ नालों के तटबंध उपयुक्त रहेंगे । डेयरी और दुधारू पशुपालन के साथ रेशम उद्योग की भी बड़ी संभावना उपलब्ध की जा सकती है । दलहन तिलहन उत्पादन की दृष्टि से भौगोलिक अनुकूलता इस भूभाग में विद्यमान है बशर्ते ऐरा पालतू मवेशियों पर कारगर प्रतिबंध लग सके ।सड़क बिजली के वितरण की दृष्टि से यह भूभाग काफी विकसित है जरूरत है रखरखाव और नियमित सप्लाई लाइन को दुरुस्त रखने की । चौराघाट कटिंग के बाद मार्केटिंग और परिवहन विकास की बड़ी संभावना विकसित होने के आसार हैं । रायपुर में उच्च शिक्षा के लिए कालेज , उपतहसील का नियमितीकरण , चिकित्सालय में चिकित्सीय स्टॉफ के साथ ही तकनीकी विद्यालय की इकाई अपेक्षित है ।फलदार बाग बागवानी इमारती वन डेयरी सिंचाई स्रोत रेशम उद्योग के विकास की समेकित परियोजना से रोजगार के स्थाई अवसर उत्पन्न किए जा सकते हैं जिससे युवाओं को रोजगार के लिए पलायन नहीं करना पड़ेगा तथा फूड प्रोसेसिंग टिंबर फर्म की स्थापना के नए अवसर पैदा होंगे इस संदर्भ मे नागरिको मे जागरुकता की सोच आवश्यक है जिससे आगे यहा का विकास हो सके

 चाकघाट/आम तौर पर यूपी सीमा से सटे चाकघाट थाना की पुलिस अधिकांशत राजनीतिक दवाव मे खाकी बर्दी का सही इस्तेमाल नही कर पाती है और यहा पदस्थ सिपाही से थाना प्रभारी तक नेताओ के दवाव मे चाह कर भी सख्ती करने से कतराते है.किंतु इस समय कुछ दिन पूर्व चाकघाट थाना की टी आई किरण पाल द्वारा चाकघाट बाजार मे लगने वाले सवारी वाहनो को वेतरतीव खडा करने पर सख्ती से हडकम्पमचा है गुरुवार को टी आई ने पहले तो सडक पर यातायात बाधित करने वाले तिन पहिया सवारीढोने बालो को साइड मे खडा करने पर सिपाही को भेजा,मगर आदत से मजबूर ड्रायवर ने अनसुनी कर दिया.इसके बाद टी आई खुद पुलिस की गाडी से उतरकर तिपहिया मे बैठकर उसे थाने चलने को कहा ,पुलिस के इस बदले रुख से बाहन चालको मे अफरा तफरी मच गयी वही आस पास खडे.लोगो ने पुलिस के इस अभियान पर खुशी जाहिर किया ,आगे देखना हैकि पुलिस गौरा रोड और वार्डर पर आये दिन लगने वाले जाम से कैसे निजात दिलाती है .और वर्षो से मनमानी करने वालो पर पुलिस कितना प्रभावी हो पाती है 

त्योंथर/त्योंथर के कटरा शंकरपुर बरहट 3 जनपद सीटों में सन्निहित  विंध्य का पठारी भाग मिश्रित भूमि के साथ उपजाऊ क्षेत्र है जिसमें जलधारण क्षमता काफी कम है कंकरीली मुरम युक्त होने से पठारी भाग की 10 ग्राम पंचायतों के गाँवों में सिंचाई सुविधा का अभाव है  साथ ही इस भाग में भूमिगत जल स्रोत की भी कमी है ।यह दर्द कटरा क्षेत्रीय विकास मंच अध्यक्ष श्रीमति नीता अरुण सिंह का है जो आजादी के कई द्शक वीत जाने के बाद भी जन प्रतिनिधियो द्वारा जन समश्याओ पर आंख मूदने पर ब्यक्त किये आगे कहा कि एकमात्र शंकरपुर में छोटा डैम है जो स्थानीय भौतिक संरचना के चलते 2 गाँव शंकरपुर महेबा की सिंचाई के लिए अपर्याप्त है । यद्यपि नईगढ़ी ब्लॉक के सीमावर्ती क्षेत्रों में कई प्राकृतिक स्रोत डैम बनाने के लिए उपयुक्त हैं जिनसे सिंचाई के रकबे में आशातीत बृद्धि की संभावना है किंतु इस दिशा में काम की बात दूर सर्वे तक नहीं हुए हैं ।उनका आगे कहना हैकि यद्यपि देउर कोठार क्षेत्र में स्थानीय नाले पर एकाध जगह स्टॉप डैम बनाया गया है किंतु जरूरत अनुसार यह कार्य भी अपर्याप्त ही है ।क्योटी कैनाल से लिफ्ट कर यदि इस भूभाग को नहरों द्वारा पानी उपलब्ध कराया जा सके तो पठारी भाग की कृषि तस्वीर बदली जा सकती है ।विकास की दृष्टि से इस क्षेत्र को यद्यपि सड़क मार्गों से जोड़ा गया है आंतरिक ग्राम पथ भी बने हैं किंतु इन कार्यों से रोजगार का स्थायित्व नहीं पैदा होता । पूरे क्षेत्र में जल संग्रहण के लिए छोटी छोटी संरचनाओं की व्यापक संभवनाएं हैं जिन पर सार्थक काम अपेक्षित है । बिजली व्यवस्था ठीक ठाक है परन्तु उससे कुटीर उद्योगों का विकास बहुत पीछे है ।शिक्षा के क्षेत्र में प्राथमिक माध्यमिक हाईस्कूल उपलब्ध हैं किंतु उच्चशिक्षा के लिए एक अदद कॉलेज की नितांत आवश्यकता है । तकनीकी शिक्षा का तो कहीं नामोनिशान नहीं जिससे शिक्षा प्राप्त युवा जीवन के वास्तविक संघर्ष में भटकाव के साथ असफलता की ओर ही बढ़ता है । पठार का पूरा भूभाग वन्य क्षेत्र से लगा होने से वनोपज की असीम सँभवनाओं से भरा है जिसमें फल , औषधियाँ  , इमारती लकड़ियां , शहद , रेशम जैसी कमर्शियल उत्पादों की बेहतरीन संभावनाएं विद्यमान हैं जरूरत समेकित प्लान की है । वन समितियों और समूहों की भागीदारी से यह लक्ष्य हासिल करना असम्भव नहीं । बाग और बागवानी की संभावना इस क्षेत्र में प्राकृतिक अनुकूलता के कारण आधुनिक तकनीक के साथ यदि उपलब्ध जल को टपक सिंचाई पद्धति से उपयोग कर कार्य किया जाय तो निश्चित ही सफल होगी और रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे । स्ट्राबेरी बेरी चीकू तेंदू आँवला जैसे फलों के उत्पादन की संभावना से भरा यह क्षेत्र नियोजित पहल के अभाव में जीवन का संघर्ष झेल रहा है ।

देउर कोठार का संसार प्रसिद्ध ऐतिहासिक बौद्ध स्तूप मप्र पर्यटन के नक्से पर है जहाँ से कभी उज्जैन प्रयाग व्यापारिक मार्ग गुजरता था जो आज केवल इतिहास बन चुका है । अगर इस स्थल के आसपास कॉलेज और तकनीकी संस्थान खोल दिए जायँ तो जहाँ शिक्षा को उद्देश्यपूर्ण तरीके से बढ़ाया जा सकता है वहीं इतिहास और वर्तमान की कड़ीं बेहतर तरीके से जोड़ी जा सकती है ।

 

NH 30 पर घाटी के ऊपर कटरा घूमा में प्राथमिक चिकित्सालय की नितांत आवश्यकता है जिसे 70 सालों में क्यों नहीं किया जा सका यह अबूझ पहेली है...!!

आगे देखना हैकि बिधानसभा  चुनाव मे किस्मत आजमाने बाले जन नेता ज्न सम्स्याओ  पर कितन आस्वस्त कर लोगो की समस्यायो क निदान कराने क ढाढ्स दे पाते है

 

उचित होगा इस पठारी भाग में नेचुरल एडजस्टमेंट के साथ बाग बागवानी वन्य उत्पाद डेयरी एवं दुधारू पशुपालन की दिशा में पहल की जाय जिसमें वन विभाग को आगे आकर जन सहयोग से विकास को आधुनिकता की जरूरत अनुसार गति दी जाय ।

 

शहतूत का सघन रोपण कर रेशम कीट पालन किया जा सकता है जो रोजगार के नए आयाम खोलकर जन समृद्धि में कारगर सहयोग कर सकता है ।

 

चाकघाट,रीबा/विंध्य क्षेत्र अंतर्गत विधानसभा त्योंथर यूपी के इलाहाबाद की सीमा से सटा बिधान सभा है जहा की राजनीति मे यूपी सीम का काफी प्रभाव रहता है, वर्तमान चुनाव मे यू तो प्रमुख राजनीतिक दलो से अनेक नेता चुनाव के लिये जोर आजमाइस मे जुटे है किंतु त्योंथर बिधानसभा मे पिछले कई साल से जनता के बीच कांग्रेस नेता कौशलेश द्विवेदी का नाम सुर्खियो मे रहा है,इस बार के चुनाव मे यू तो दो बार चुनाव लड चुके  कौशलेश द्विवेदी खुद को इस बार टिकट की लाइन से बाहर कह रहे है किंतु जानकार लोगो क कहना है कि कौशलेश द्विवेदी पूर्व बिधानसभ अध्य्क्ष स्व.श्री निवास तिवारी के सानिध्य मे राजनीति की क्लास अटेंड कर चुके है ऐसे मे इस बार वे कांग्रेस के लिये निर्णायक भूमिका अदा कर सकते है.वता देकि गत 28 सितम्बर को त्योंथर मे राहुल गांधी ने कौशलेश द्विवेदी को खास जिम्मेदारी दिया आइये देखते है कौशलेश द्विवेदी से खास बातचीत 

शंकरगढ़ इलाहाबाद । राजा कमलाकर डिग्री कॉलेज में दूरस्थ शिक्षा पर चर्चा की गई जिसमे राजर्षि टंडन मुक्त विश्विद्यालय के डिप्टी डायरेक्टर समेत राजामलाकर इंटर कॉलेज के प्राचार्य व प्रवक्ता के साथ छात्र छत्रा मौजूद रहे। 

 राजा कमलाकर डिग्री कॉलेज के व्याख्यान कक्ष में दूरस्थ शिक्षा की उपयोगिता के बारे में विस्तार से बताया गया। राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय इलाहाबाद के डिप्टी डायरेक्टर विनोद गुप्ता ने  मौजूद रहे जिसमें विनोद गुप्ता ने दूरस्थ शिक्षा की उपयोगिता के बारे में विश्लेषण करते हुए  बताया  कि घर बैठे एक व्यक्ति कैसे शिक्षा ग्रहण कर सकता है । उन्होंने दूरस्थ शिक्षा को सरल बताते हुए उसकी खूबियों पर प्रकाश डाला।बुन्होने कहा कि यह वैदिक काल से अभिमन्यु जब गर्भ में था तब से यह दूर शिक्षा का प्रावधान चला आ रहा है। इस प्रकार से यह दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से हर कोई व्यक्ति शिक्षा ग्रहण कर सकता है  , जिसके लिए उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय संस्थान खोला गया है। आवश्यक व्यक्तियों के लिए वह स्थान अपनी विषय वस्तु और अपनी आवश्कता को ध्यान में रखते हुए वहा जाए और दूरस्थ शिक्षा से शिक्षा ग्रहण करें। इस कार्यक्रम में मौजूद प्रबंधक अनय प्रताप सिंह ,कॉलेज के प्राचार्य गंगा तिवारी, प्रवक्ता आरके गोस्वामी राकेश त्रिपाठी, रीना गोस्वामी, प्रियंका सिंह, यासमीन खान, आकांक्षा, पूजा सहित कॉलेज के छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।सभागार मेयंग बोटर अभियान कैम्प लगाया गया जिसमे मुख्य अतिथि युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष विरेन्द्र शुक्ला व विशिष्ट अतिथि भारत सिहं व्लाक प्रमुख शंकरगढ रहे जिसकी अध्यक्षता भाजपा मंडल अध्यक्ष अखिलेश सिहं पटेल ने किया कार्यक्रम का संचालन विधान सभा संयोजक विरेन्द्र सिहं ने किया जिसमे मुख्य रुप से जिला सहसंयोजक सुधाकर सिहं,सुरेश पाल, अनुपम सिंह, राहुल सिंह, कमल पटेल, विभा मिश्रा, अर्जुन गुप्ता, शुभम मिश्रा, विकास सिंह, चंदन, पुष्प राज, अतुल आदि मुख्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अंत में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य जी के पिता के निधन पर सभी ने दो मिनट मौन रहकर शोक सवेदना व्यक्त किया आत्मा के शांती के लिए ईश्वर से प्रार्थना किया।

जयशंकर भाषकर /बड़ोखर कोटे की दूकान का तहसीलदार अनीता देवी का औचक निरीक्षण!कोटेदार रामचन्द्र केशरी के दूकान का निरीक्षण!घटतोली की शिकायत पर पहुची तहसीलदार ने कराई खाद्यान की तोल!तोल में मिला कोटेदार का गड़बड़ झाला!वितरण और स्टाक रजिस्टर को तहसीलदार ने लिया कब्जे मे!

कोरांव ब्लाक प्रमुख का अविश्वास नही  सका

कोराव ब्लाक प्रमुख राम अवध कुशवाहा का आज अविश्वास होना था!

पूरी तेयारीहो चुकी थी  परंतु कोईक्षेत्र पंचायत सदस्य आये ही नही

यह अविस्वास राव विरेन्द्र सिंह के द्वारा लाया जा रहा था!

डी पी आरो द्वारा डी एम को जानकारी दी गई

एस डी एम सिवनी सिह वीडियो के निगरानी मे हुआ

अविस्वास 11बजे से 1बजे तक समय था इस बीच कोई बी डी सी सदस्य नही आया

अविस्वास नही हो पाया और ब्लाक प्रमुख राम अवध ही हेँ

यूपी सीमा से लगे रीबा जिले के त्योंथर बिधानसभा अंतर्गत मिशन 2018 चुनाव पर आम लोंगो की राय जानने के लिये स्मार्ट इंडिया न्यूज की चौपाल मे सम्मिलित होने तथा लाइव वीडियो नेट न्यूज के लिये मोबाइल 9452377524(वाटसप)या 7024345460 पर काल करे visitus :smartindianews.in

 

फोटो गैलरी

Market Data

एडिटर ओपेनियन

IPL की साख पर सवाल गलत: श्रीनिवासन

IPL की साख पर स...

नई दिल्ली।। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड...

अरुणाचल की तीरंदाजों को चीन ने दिया नत्थी वीजा!

अरुणाचल की तीरं...

नई दिल्ली।। अरुणाचल प्रदेश की दो नाबालिग...

Video of the Day

Right Advt

Contact Us

  • Address: Pramod Babu Jha C/O Yuvraj Singh, D32/A, Gangotree Nagar, Dandi Naini, Allahabad, 212103
  • Tel: +(011) 9452377524, 8707786570
  • Email:  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
  • Website: http://www.smartindianews.in

About Us

Smart India News is one of the renowned Hindi Magazine in print and web media. It has earned appreciation from various eminent media personalities and readers. ‘Smart India News’ is founded by Mr Pramod Babu Jha.